सत्य का सारथी

राजस्थान में चार चरणों में होगा पंचायत चुनाव

0 170

जयपुर: जिला परिषद और पंचायत समितियों के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा हो गई है. इस बार चुनाव चार चरणों में संपन्न किया जाएगा. पहले चरण के लिए 23 नवंबर को मतदान किया जाएगा तो वहीं 27 नवंबर को दूसरे चरण का मतदान किया जाएगा इसके बाद तीसरे चरण का मतदान 1 दिसंबर को तो चौथे चरण का मतदान 5 दिसंबर को किया जाएगा. इसके बाद मतगणना 8 दिसंबर को होगी.

जिला परिषद पंचायत समिति सदस्य चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही चुनाव वाले क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है. अजमेर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, बूंदी, चित्तौड़गढ़, चूरू, डूंगरपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालोर, झालावाड़, झुंझुनूं, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, राजसमंद, सीकर, टोंक और उदयपुर में जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्यों का चुनाव होगा. वहीं चुनाव लड़ने के लिए जिला परिषद सदस्य के लिए डेढ़ लाख तो वहीं पंचायत समिति सदस्य के लिए 75,000 की खर्च सीमा रखी गई है. तो वहीं वाहनों में लाउड स्पीकरों के उपयोग कट आउट, होर्डिंग, पोस्टर, बैनर के प्रदर्शन संबंधी प्रतिबंध 2 दिसंबर 2019 के आदेश से लागू हैं. इसके साथ ही मतदान ईवीएम से होगा. मतदान सुबह 7:30 से शाम 5:00 बजे तक किया जाएगा. इस चुनाव में 1 लाख 80 हजार कर्मचारी लगाए जाएंगे. जिला परिषद पंचायत समिति सदस्य चुनाव में कुल 2 करोड़ 41 लाख 87946 मतदाता अपने मत का प्रयोग कर सकेंगे. इनमें पुरुष 1 करोड़ 24 लाख 97136 तो वहीं महिला 1 करोड़ 16 लाख 90 हजार शामिल है. नए परिसीमन के अनुसार 33 जिला परिषदों में 1014 सदस्य तो वहीं 352 पंचायत समितियों में कुल 7027 सदस्य हैं. लेकिन 21 जिलों के 636 जिला परिषद सदस्यों 4371 पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव होंगे. 1100 के बजाय हर बूथ पर 900 मतदाताओं की ही संख्या रहेगी. इस तरह 21 जिलों में 33611 मतदान केंद्र है. चारों चरणों के चुनाव के लिए निर्वाचन की अधिसूचना 4 नवंबर को जारी होगी. नामांकन पेश करने की अंतिम तिथि 9 नवंबर सुबह 11:00 बजे से अपराहन 3:00 बजे तक होगी. वहीं 8 नवंबर रविवार को नामांकन प्रस्तुत नहीं किए जा सकेंगे. नामांकन पत्रों की जांच 10 नवंबर सुबह 11:00 बजे से होगी. इसके साथ ही नाम वापसी की तिथि 11 नवंबर दोपहर 3:00 बजे तक रहेगी. चुनाव प्रतीकों का आवंटन और चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों की सूची 11 नवंबर को प्रकाशित की जाएगी. वहीं इसके बाद 10 दिसंबर को प्रमुख या प्रधान का चुनाव होगा. इसके अगले ही दिन 11 दिसंबर को उप प्रमुख या उप प्रधान का चुनाव होगा. प्रमुख या उप प्रमुख या प्रधान या उपप्रधान के चुनाव की बैठक सुबह 10 बजे से शुरू होगी. इसके लिए नामांकन प्रस्तुतीकरण सुबह 11:00 बजे तक, नामांकन पत्रों की जांच सुबह 11:30 बजे से, वापसी दोपहर 1:00 बजे तक होगी. चुनाव प्रतीकों का आवंटन और चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों की सूची दोपहर 1:00 बजे के तुरंत बाद तैयार होगी. जरूरी होने पर मतदान दोपहर 3:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक किया जाएगा. मतगणना और निर्वाचन परिणाम की घोषणा शाम 5:00 बजे से मतदान समाप्ति के तुरंत बाद जो भी पहले हो किया जाएगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.